तुलसी का पेड़.और ओसधी गुण

                                    तुलसी का पेड़.और ओसधी  गुण 


 आज हम तुलसी का पेड़ के बारे में जानेंगे उस का औषधीय गुण जो हम लोग डेली  जीवन में यूज़ करते हैं|  उसके बारे में बात करेंगे चलो शुरू करते हैं.|  आयुर्वेद में तुलसी पेड़ को सबसे श्रेष् औषधीय  गुण युक्त माना जाता है.|  इस तुलसी का पेड़ का भारत वर्ष में जन्म हुआ है | 16 शताब्दी में यूरोप में पाया गया था वर्तमान विश्व में तुलसी का पेड़ को लगाया जाता है तुलसी के पत्ते में एउजनल ,कार्वाकल  मिथाइल एउजनल  ,कोरिया फिरमालिन   उपकारी चीज है.|  तुलसी के पत्ते में बैक्टीरिया और भाई रस को डिस्टरबेंस करने का    गुण है. |  तुलसी का पत्ता में रसोली  अंबाला,   अपजानिने ,लुटोनिने ,ग्लूकोरोनिडे ,ोरेटीने , नीड, एयरटेल ,  मिलता है| . इस पत्ते में रूप में स्नायु टॉनिक   काम करता है औरसमुट्रिसकती  बढ़ाता है.|  मेंइस पत्ते में  भूख बढ़ाने का  शरीर में और सरीरे ब द्दू अगले में करता है |
तुलसी का पेड़.और ओसधी  गुण
 तुलसी का पेड़

बुखार -  इस पेड़ का  पत्ते में विभिन्न प्रकार बुखार को  ठीक कर देता है|   जैसे कि बारिश का सीजन में मलेरिया,  और डेंगू जैसा बुखार को ठीक करने में मदद करता है|  ज्यादा बुखार के समय तुलसी के पत्ते को और इलायची के पौधे को पीने से बुखार कम  हो जाता है | 

टॉक्सीटेसेस  या गला  का प्रभाव-   एक गिलास पानी में 10 से 12 तुलसी पत्ते को गरम करके पीने से टॉक्सीटेसेस ठीक हो जाता है| 

किडनी स्टोन - बृकक  या  किडनी स्टोन होने से तुलसी का पत्ता का रस और एक चम्मच  महू को मिलाकर खली  पेट नियमित 6 महीने खाने से किडनी स्टोन ठीक हो जाता है| 

 हार्ट अटैक - हार्ट अटैक को रोकने में तुलसी का पत्ता बहुत  उपकार  है |   नियामत  रोज तीन या चार पत्ते चौबाकर खाने से कोलस्ट्रोल काम होता है | और हार्ट  को  भी स्वस्थ रहता है | 

शिशु रोग- शिशु रोग को बच्चों को जुखाम सर्दी या लैटिन मैं  पत्ता का  रस लाभदायक है| एक चम्मच तुलसी का पत्ते का रस और आधा  चम्मच केसर मिलकर खाना सा बुखार ,लैट्रिन ठीक हो जाता है | रोज 4 या 5 पता चोबा  के खाने से हजम 
शक्ति बढ़ाता है  और भूख भी  बढ़ाता है | 

 ब्लड प्रेशर -तुलसी का पत्ता दिन में दो बार  12 पत्ता रोज खाने से ब्लड प्रेशर ता है |  इ मे   ब्लड सोधन हो ता है और ब्लड प्रेशर  कम  हो ता है |
   मुख रोग-  मुख में  अंदर घाव होने में२ या ३  तुलसी का पत्ता तो चबाकर खाने से  ३ दिन मे ठीक हो जाता है.| 

चर्म रोग - जादू और सफेद छुए   होने से तुलसी के पत्ते का रस लगाने से ठीक हो जाता है |   को और  को    जादू सा लगनसे  ठीक हो | 
 आंख का  बीमारी- आंखों में दर्द और मोतिया  बिंदु  ,बलिन्डनेस  होने से  तुलसी पत्ते का रस सोने से पहले  आंख मे डालकर सोने से ठीक हो जाता है|
कान का रोग -कान में दर्द  या कम  सुनाई देने   बाला रोग ठीक कर देता है अगर आप तुलसी के पत्ते को रस बनाकर कान में डालोगे तो ठीक हो जाएगा | 

पेशाब में जलन- पेसबा मे   जलन   हो  ने  2 और3 ग्राम  तुलसी का    दा ना  को 12 घंटा पानी में डूबा कर रखने और 1 दिन में एक बार  खाना से जलन ठीक हो जाता है| 

स्त्री रोग -स्त्री  रोग   मा सिक  अ नियमित  पीरियड्स और अधिक पीरियड्स होने से तुलसी पेड़पैसे  कर    एक चम्मच पानी में मिलाकर दिन में एक बार 1 महीने खाने से ठीक हो जाता है  | 

  गभ   नियत्रण - मासिक पीरियड्स का  3 दिन का बाद तुलसी का पता को  गरम करके पीने से गर्भ  संसाररनहीं होता है| 
  •   अंत में  तुलसी का बूटी बनाना सिखाता हूं --   आधा कप तुलसी का रस 15 काली मिर्ची पाउडर   धूप में सुखाना है | दूसरे दिन इसमें ७ या ८ चम्मचतुलसी  का  रस मिलाकर धूप में सिखाना है|  3गला दिन उसमें 8 चम्मच तुलसी का रस   मिक्स करके के फिर से धूप में सुखा ना है| 4 दिनका  बाद मैं मटर जैसा  दानाको   गोल कर के  बटाल में रखना है | जब भी बुखार  होने से ऐसा वह वाला  गो ली को दिन में खाने  से  बुखार ठीक हो जाता है.| तुलसी  का रास  बॉडी मे  लगनसे  हड्डी  सक्त  होता है 

  
SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment